Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
राजस्थान के जिले राजस्थान GK नोट्स

नागौर जिला {Nagaur District} राजस्थान GK अध्ययन नोट्स

1. महत्वपूर्ण तथ्य

  • नागौर जिले का कुल क्षेत्रफल = 17,718 किमी²
  • नागौर जिले की जनसंख्या (2011) = 33,09,234
  • नागौर जिले का संभागीय मुख्यालय = अजमेर
  • नागौर राजस्थान का एक प्रमुख औद्योगिक एवं शैक्षणिक शहर है।

2. भौगोलिक स्थिति

  • भौगोलिक स्थिति: 25.18°N 75.83°E
  • यह राजस्थान के मध्य भाग में आता है।
  • नागौर मारवाड़ क्षेत्र में स्थित है

3. इतिहास

  • सन् 1534 ई. में गुजरात के शासक बहादुरशाह द्वितीय ने नागौर पर थोड़े समय के लिए अधिकार कर लिया था।
  • नागौर बलबन की जागीर थी जिसे शेरशाह सूरी ने 1542 में छीन लिया था।
  • सम्राट अकबर के समय में नागौर मुग़ल साम्राज्य का अंग था। 1570 ई. में अकबर ने नागौर में दरबार लगाया था, जिसमें अनेक राजपूत राजाओं ने अकबर से मिलकर उसकी अधीनता स्वीकार कर ली थी।
  • महान मुगल सम्राट अकबर ने यहां मस्जिद का निर्माण करवाया था। इस मस्जिद में मोइनुद्दीन चिश्ती के शिष्य की मजार है।

4. कला एवं संस्कृति

  • यहाँ मारवाड़ अंचल की एक अलग ही आभा है
  • यह राजस्थानी परंपरा एवं संस्कृति की छाप छोड़ने वाला एक संभाग है ।
  • नागौर में सभी पर्व हर्ष एवं उल्लास के साथ मनाये जाते हैं ।

5. शिक्षा

  • यहाँ पर इंजीनियरिंग और अन्य सामान्य कॉलेज हैं।
  • प्राथमिक एवं माध्यमिक शिक्षा हेतु सरकारी, स्कूल एवं निजी क्षेत्र की कई अच्छी स्कूल हैं

6. खनिज एवं कृषि

  • नागौर अन्य फसलों के साथ खुशबूदार मैथी के लिए प्रसिद्ध है
  • नागौर में डेगाना टंगस्टन के उत्पादन के लिए जाना जाता है
  • नागौर विशेष रूप में प्रत्येक वर्ष लगने वाले पशु मेले के लिए भी काफी प्रसिद्ध है। इस मेले में हर साल काफी संख्या में पर्यटक आते हैं।
  • सभी प्रकार की कृषि यहाँ की जाती है

7. प्रमुख स्थल

  • खिवसर का किला नागौर राष्ट्रीय राजमार्ग नं. 65 से 42 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह किला लगभग 500 वर्ष पुराना है।
  • नागौर पशु मेला जनवरी-फरवरी माह में लगता है। इस मेले का आयोजन काफी बड़े स्तर पर किया जाता है। इसके अलावा मेले में रस्सा-कशी, ऊंटों की दौड़ और सांड की लड़ाई का आनन्द भी उठाया जा सकता है।
  • वीर तेजाजी जन्म स्थली खरनाल राष्ट्रीय राजमार्ग नं. 65 से 16 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यहा मेला भादवा माह में लगता है। इस मेले का आयोजन काफी बड़े स्तर पर किया जाता है।
  • कुर्की नागौर जिले का एक छोटा सा गांव है। यह स्थान मीरा बाई के जन्म स्थान के रूप में भी जाना जाता है।
  • हमीद्दीउदीन नागौरी मकबरा काफी प्रसिद्व मकबरा है। इस जगह पर काजी हमीद्दीउदीन नागौरी का स्मारक है। यह एक सूफी संत थे।
  • जैन मंदिर, मेङतारोङ की बनावट काफी भव्य है। इस मंदिर में की गई चित्रकारी भगवान महावीर और पार्श्‍वनाथ के जीवन से जुड़ी हुई है।

8. नदी एवं झीलें

  • लूनी नदी यहाँ की एक प्रमुख नदी है

9. परिवहन और यातायात

  • नागौर का सबसे बङा रेल्वे स्टेशन मेङतारोङ का है। सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन नागौर में है। भारत कि सर्वप्रथम रेलबस सेवा मेङतारोङ से शुरु कि गई।
  • नागौर के लिए सीधी बस-सेवा है। दिल्ली, अहमदाबाद, अजमेर, आगरा, जयपुर, जैसलमैर और उदयपुर से बस-सेवा की सुविधा उपलब्ध है।
  • सबसे नजदीकी हवाई अड्डा जोधपुर है। यह जगह नागौर से 135 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

10. उद्योग और व्यापार

  • कृषि एवं नमक उत्पादन एक प्रमुख व्यवसाय है

Leave a Comment

/* ]]> */