Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
Test

UGC PG Scholarship for Single Girl Child हर महीने 3100 रुपए

UGC Post Graduate Indira Gandhi Scholarship for Single Girl Child इकलौती बेटी को पीजी करने के लिए यूजीसी देता है हर महीने 3100 रुपए स्कॉलरशिप के लिए छात्रा का चुनाव पोस्ट ग्रेजुएशन में उसकी परफॉर्मेंस के आधार पर करती है

यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमीशन (यूजीसी) माता-पिता की इकलौती बेटियों को स्पेशल स्कॉलरशिप दे रही है। यह योजना ऑल इंडिया लेवल पर सिंगल गर्ल स्टूडेंट्स तथा हर आय-जाति वर्ग के लिए चलाई जा रही है। इसलिए इसका नाम पोस्ट ग्रेजुएशन स्कॉलरशिप फॉर सिंगल गर्ल चाइल्ड रखा गया है। यूजीसी की सिलेक्शन कमेटी ही स्कॉलरशिप के लिए छात्रा का चुनाव पोस्ट ग्रेजुएशन में उसकी परफॉर्मेंस के आधार पर करती है।

इसके तहत चुनी गईं छात्राओं को नॉन-प्रोफेशनल पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स करने के लिए दो साल तक 3,100 रुपए महीने की स्कॉलरशिप दी जाती है। पोस्ट ग्रेजुएशन के सेकंड ईयर में वे ही छात्राएं स्कॉलरशिप पाने की हकदार होंगी, जो फर्स्ट ईयर में कम से कम 55 फीसदी नंबर लेकर पास हुई हों। यदि दूसरे वर्ष में आपका परफॉर्मेंस ठीक नहीं रहा तो यूजीसी आपकी स्कॉलरशिप रद्द कर सकता है। इस स्कीम का लाभ लेने के लिए आपकी उम्र 30 साल से कम होनी चाहिए। इसके लिए ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तारीख 30 नवंबर है। अधिक जानकारी चाहते हैं तो अपने कॉलेज से पता कर सकते हैं।

इन छात्राओं को होगी पात्रता

–  इस साल अपनी ग्रेजुएशन कंप्लीट करने वाली और पोस्ट ग्रेजुएशन के रेगुलर कोर्स में एडमिशन लेने वाली सिंगल गर्ल चाइल्ड स्टूडेंट्स अप्लाई कर सकती हैं।
– आवेदक माता-पिता की एकमात्र संतान होनी चाहिए। यानी उसका न कोई भाई हो, न बहन।
– जुड़वां बेटियां हैं तो दोनों ही आवेदन कर सकती हैं।
– जुड़वां में यदि एक लड़का व एक लड़की होते हैं तो ऐसी स्थिति में भी लड़की पात्र मानी जाएगी।
– अगर परिवार में एक बेटा व एक बेटी है (जो अलग-अलग समय पैदा हुए हों) तो बेटी इस स्कॉलरशिप के योग्य नहीं मानी जाएगी।

चयन प्रक्रिया
– आपके आवेदन करने के बाद तमाम दस्तावेजों की जांच कॉलेज तथा यूजीसी अपने स्तर पर करते हैं। आवेदनों के स्लॉट की संख्या के आधार पर फैसला किया जाता है कि कितने स्टूडेंट्स को स्कॉलरशिप मिलेगी। स्कॉलरशिप के लिए चुनी गई छात्राओं का नाम यूजीसी की वेबसाइट पर जारी किया जाता है। वहां जाकर छात्राएं अपना नाम देख सकती हैं कि वे पात्र है या नहीं। इसके बाद नॉन-प्रोफेशनल पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स करने के लिए दो साल तक प्रतिमाह 3,100 रुपए दिए जाते हैं। यह फैलोशिप वर्ष में 10 महीने दी जाएगी।

इन दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी
– आधार कार्ड
– किसी राष्ट्रीयकृत बैंक में खुले खाते के पासबुक की फोटोकॉपी
– आप परिवार में अकेली लड़की हैं, इसका प्रूफ
– बैचलर डिग्री की मार्कशीट
– आपने पोस्ट ग्रेजुएशन के प्रथम वर्ष में किस विषय में एडमिशन लिया है, इसके लिए कॉलेज द्वारा जारी दस्तावेज
– आपके प्रवेश-पत्र की कॉपी
– पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ

बीच में पढ़ाई छोड़ना पड़े तो
– 
छात्रा अपनी स्टडी बीच में ही छोड़ना चाहती है, तो उसे पहले यूजीसी से इसकी इजाजत लेनी पड़ेगी। इसके बाद यूजीसी तय करेगा कि छात्रा को अभी तक दी गई राशि वापस लेकर स्कॉलरशिप बंद की जाए या बिना राशि वापस लिए।

ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया
– सबसे पहले वेबसाइट (www.ugc.ac.in/ugc_schemes) पर लॉग इन करें।
– इसके बाद Post-Graduate Indira Gandhi Scholarship for Single Girl Childस्कीम नीचे दिए गए See details info पर क्लिक करें (यहां आपको पूरी जानकारी मिल जाएगी)।
– अगला पेज ओपन होने पर लेफ्ट साइड में दिए गए Apply now बटन पर क्लिक करें और दर्शाए गए दिशा-निर्देशों के अनुसार आवेदन फॉर्म भरें।
– अप्लाई करते समय आपके पास सभी दस्तावेज होना जरूरी है।
– नए आवेदकों को पहले रजिस्ट्रेशन कराना होगा। रजिस्ट्रेशन भी इसी तरीके से किया जा सकता है।

Leave a Comment

/* ]]> */